उत्तर प्रदेश सरकार तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना 2021

UP Govt Triple Talaq Grant Scheme 2021 Online Application Form | Rs 6000 for Muslim Divorce Victims | यूपी तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना आवेदन फॉर्म

UP Govt Triple Talaq Grant Scheme 2021 :- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने मुस्लिम तीन तलाक पीड़ित महिलाओं के लिए एक योजना की घोषणा की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि सरकार तीन तलाक जैसी कुप्रथा से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं और अपने पतियों द्वारा त्याग दी गई हिंदू महिलाओं के पुनर्वास के लिए सहायता राशि 6,000 हजार रुपये सालाना देगी। सिर्फ इतना ही नहीं सरकार ऐसी महिलाओं का केस निशुल्क लड़ने की व्यवस्था तैयार करेगी। कुछ ऐसे पुरुष भी होते हैं जो अकारण ही अपनी पत्नी के होते हुए दूसरी महिला से सम्बन्ध रखते हैं। और अपनी पत्नी को छोड़ कर दूसरी महिला से विवाह कर लेते हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार ऐसे पुरुषों के खिलाफ कड़ी करवाई करेगी। ऐसे पुरषों को उनकी मनमानी का सबक सिखाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार ने पीड़ित महिलाओं को समुचित रोजगार के लिए प्रशिक्षण दिलवाने की घोषणा (Triple Talaq Victims Grant Scheme) भी की है। ऐसी महिलाओं की योग्यता के हिसाब से सरकार उनका समायोजन करेगी। सीएम ने कहा कि आयुष्मान योजना में भी ऐसी महिलाओं को लाभ मिलना चाहिए।

उत्तर प्रदेश सरकार तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना 2021

UP CM Yogi Adityanath Triple Talaq Grant Scheme – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि में प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद करता हूं, जिन्होंने तीन तलाक की कुप्रथा पर प्रहार किया। साथ ही तीन तलाक से पीड़ित अमरोहा की राष्ट्रीय स्तर की एथलीट सुमेला जावेद को सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा भी की है। मुख्यमंत्री बुधवार के दिन राजधानी के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में तीन तलाक पीड़ित महिलाओं से संवाद और प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज में महिलाओं के लिए बहुत ज्यादा बंदिशें हैं। इस कारण तीन तलाक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़ने वाली इस समाज की बहनों का वह बहुत सम्मान करते हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने पांच बार तीन तलाक की कुप्रथा बंद करने का आदेश दिया लेकिन राजनीतिक से जुड़े कुछ लोगों ने वोट बैंक के चलते कानून बनाकर इस आदेश को उलट दिया। इस कार्यक्रम में तलाक सुदा मुस्लिम महिलाएं सबसे ज्यादा संख्या में शामिल हुई। 1985 का शाहबानो प्रकरण का उदाहरण सबके सामने है। मुख्यमंत्री जी ने कहा की इसके खिलाफ राजनीती करने वाले लोगों पूछना चाहिए कि ऐसी अमानवीय कानून को किसलिए जारी रखा गया। यह कानून 22 मुस्लिम देशों में काफी समय पहले बंद हो चुका है। अभी भी कुछ राजनीति पार्टियां तीन तलाक के खिलाफ बने कानून पर सवाल उठाते हैं। प्रदेश की तीन तलाक से प्रभावित बेसहारा और जरूरतमंद महिलाओं को प्राथमिकता के आधार पर मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास भी दिए जा सकते हैं।

यूपी तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना का लक्ष्य

Objective of UP Triple Talaq Victims Grant Scheme:

  • तीन तलाक पीड़ितों को अपने जीवन-यापन करने में परेशानी ना हो। इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार पढ़ी-लिखी महिलाओं के लिए नौकरी की व्यवस्था करेगी।
  • तीन तलाक से पीड़ितों महिलाओं के लिए कोर्ट में उनके केस लड़ने की व्यवस्था भी उत्तर प्रदेश सरकार करेगी। अक्सर इस परिस्थितियों में मुस्लिम महिलाओं को घर से बाहर निकाल दिया जाता है। उनके पास अपने जीने खाने के लिए भी पैसे नहीं होते तो वो कोर्ट में केस कैसे लड़ सकती है।
  • मुस्लिम महिलाओं के अलावा कई हिंदू महिलाएं भी पीड़ित हैं। इसलिए उनके अधिकारों पर भी बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि पुलिस एक शादी करने के बाद दूसरी शादी करने वाले हिंदू पुरुष पर भी कड़ी कार्रवाई करे।
  • तीन तलाक मुस्लिम धर्म में एक कुप्रथा की तरह था जिसे अब सुप्रीम कोर्ट ने पूरी तरह से खत्म कर दिया है, अब महिलाये भी इसके खिलाफ अपनी आवाज उठा सकती है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख गृह सचिव को उन मामलों को देखने के लिए कहा है जहां पुलिस काम नहीं कर रही है और उन पुलिस वालों पर भी कार्रवाई भी करने को कहा है। प्रत्येक तीन तालाक पीड़ित को अपना विवरण अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी को प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है, जिन्हें प्रत्येक मामले की निगरानी करने की जिम्मेदारी दी गई है। उत्तर प्रदेश में पिछले एक साल में 273 ट्रिपल तलाक के मामले सामने आए थे। सभी 273 मामलों में FIR दर्ज की गई। सरकार उन हिंदू पुरुषों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई करेगी जिन्होंने अपनी पहली पत्नी को छोड़ दिया है या दूसरी शादी कर ली है।

मुख्यमंत्री योगी तीन तलाक अनुदान योजना से जुड़ी जरुरी बातें

Key Features of Mukhyamantri Yogi Triple Talaq Victims Grant Scheme – उत्तर प्रदेश सरकार तीन तालक पीड़ितों को सालाना 6,000 रुपये प्रदान करने जा रही है। इस योजना में पीएम जन आरोग्य योजना के समान 5 लाख का बीमा कवर भी प्रदान होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुनर्वास योजना के बारे में कुछ विवरण दिए हैं, जिन्हे हम नीचे दे रहे हैं:

  1. सरकार आश्रय और शिक्षा के साथ 3 तालक पीड़ितों को विभिन्न योजनाओं के तहत लाभ प्रदान करने की व्यवस्था कर रही है।
  2. तीन तालक पीड़ितों को आयुष्मान भारत योजना या मुख्यमंत्री आरोग्य योजना के तहत कवर किया जाना चाहिए।
  3. जो महिलाएं शिक्षित है, उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार दिया जाना चाहिए।
  4. जिन महिलाओं को उनके घरों से बाहर निकाल दिया जाता है, उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना या उत्तर प्रदेश मुख्मंत्री आवास योजना के तहत घर उपलब्ध कराए जाएंगे।
  5. राज्य सरकार राज्य भर में उन्हें वक्फ संपत्तियों से जोड़ना चाह रही है।

दोस्तों, हमने आपको इस लेख में यूपी योगी तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना (UP Yogi Triple Talaq Victims Compensation Scheme 2019-20) के बारे में पूरी जानकारी प्रदान कर दी है। अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी है तो इसे अपने जानने वालों के साथ शेयर जरूर करें। अगर आपको इस पोस्ट से सम्बंधित कोई प्रश्न पूछना है तो नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हो। हम आपकी पूरी सहायता करेंगे। उत्तर प्रदेश राज्य की अधिक योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट www.hindiyojanaup.com के साथ बने रहें। धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top